Sunday, October 24Kepping You Informed

तस्वीरों में स्पेसएक्स कैप्सूल की लैंडिंग:स्पेसएक्स ड्रैगन ने अंतरिक्ष से धरती का सफर पूरा किया करीब 19 घंटे में, प्रोटोकॉल के तहत दोनों एस्ट्रोनॉट्स मेडिकल ऑब्जर्वेशन में रहेंगे…

अमेरिकी अंतरिक्ष कंपनी स्पेसएक्स का ड्रैगन कैप्सूल भारतीय समयानुसार सोमवार रात 12 बजकर 18 मिनट पर धरती पर पहुंच गया। इंटरनेशनल स्पेस स्टेशन से धरती तक का सफर तय करने में इसे करीब 19 घंटे लगे। 45 साल बाद अमेरिका के किसी स्पेसक्राफ्ट ने समुद्री सतह पर लैंडिंग की। तस्वीरों में देखिए स्पेसएक्स ड्रैग्रन कू के अंतरिक्ष से धरती तक लौटने का सफर।

इस कैप्सूल में सवार एस्ट्रोनॉट रॉबर्ट बेनकेन और डगलस हर्ले ने धरती की ओर वापस लौटते वक्त अपनी कई तस्वीरें भेजीं।
स्पेसएक्स ड्रैगन 560 किमी प्रति घंटा की रफ्तार से धरती के वायुमंडल में दाखिल हुआ। इस दौरान इसके बाहरी हिस्से का तापमान 1900 डिग्री तक पहुंच गया।
डगलस हर्ले ने रेडियो पर बातचीत करते हुए कहा, ‘यह वास्तव में हमारे लिए सम्मान की बात है।’ हालांकि, इसके बाद उनसे रेडियो संपर्क टूट गया था।
लैंडिंग के तुरंत बाद किनारे पर इंतजार कर रही नासा की टीम बोट के जरिए ड्रैगन कैप्सूल तक पहुंची। लैडिंग में इस्तेमाल किए गए पैराशूट समुद्री सतह पर तैरते नजर आ रहे हैं।
लैंडिंग के तुरंत बाद किनारे पर इंतजार कर रही नासा की टीम बोट के जरिए ड्रैगन कैप्सूल तक पहुंची। लैडिंग में इस्तेमाल किए गए पैराशूट समुद्री सतह पर तैरते नजर आ रहे हैं।
कुछ इस तरह से कैप्सूल के करीब पहुंची नासा की टीम। पूरी पड़ताल के बाद स्पेसक्राफ्ट को बाहर निकालने का काम शुरू हुआ।
समुद्री सतह पर तैरते स्पेसएक्स ड्रैगन को क्रेन की मदद से बाहर निकाल कर एक बड़ी बोट पर रखा गया।
स्पेसक्राफ्ट खुलने पर दोनों एस्ट्रोनॉट सुरक्षित नजर आए। धरती पर 63 दिन बाद वापसी के बाद की उनकी यह पहली फोटो
दोनों एस्ट्रोनॉट्स को एक हेलिकॉप्टर के जरिए नासा के केंद्र ले जाया गया। अभी कुछ दिनों तक इन्हें प्रोटोकॉल के तहत मेडिकल ऑब्जर्वेशन में रखा जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *