Sunday, October 24Kepping You Informed

क्रिकेट वर्ल्ड कप : पिछले 4 महीने में 2 लाख भारतीयों ने इंग्लैंड के वीसा के लिए अप्लाई किया..

मुंबई. वर्ल्ड कप का भारतीय दर्शकों के बीच किस कदर रोमांच है, इसका अंदाजा इससे लगाया जा सकता है कि पिछले 4 महीने में 2 लाख भारतीय लोग ब्रिटेन के वीसा के लिए अप्लाई कर चुके हैं। इनमें से 40% लोगों ने तो खास तौर पर मैच के लिए ही ब्रिटेन जाने की योजना बनाई है। वहीं, जो लोग किसी अन्य काम से जा रहे हैं, उनकी भी मैच देखने की तैयारी है। ये आंकड़े ब्रिटिश हाई कमीशन की वीसा पार्टनर सर्विस वीएफएस ग्लोबल की ओर से मिले हैं।

2018 की आखिरी तिमाही की तुलना में इस साल की पहली तिमाही में ब्रिटेन के वीजा के लिए अप्लाई करने वाले भारतीयों की संख्या में 120% से भी ज्यादा का इजाफा हुआ है, जिसकी वजह वर्ल्ड कप ही है। आईसीसी अब तक इवेंट के शुरुआती मैचों के 8 लाख टिकट बेच चुका है। खास बात ये है कि इनमें से 1.5 लाख महिलाएं शामिल हैं।

वनडे क्रिकेट से युवाओं का मोहभंग नहीं हुआ : स्टीव एलवर्थी

आईसीसी के टूर्नामेंट डायरेक्टर स्टीव एलवर्थी का कहना है कि ये खेल की बेहतरी के लिए अच्छा संकेत है कि महिलाएं भी इसमें रुचि ले रही हैं। ये महिला क्रिकेट को भी बढ़ावा देने की दिशा में कदम हो सकता है। महिलाओं के अलावा 1 लाख टिकट 16 साल से भी कम उम्र के बच्चों ने खरीदे हैं, जो इस बात को गलत साबित करता है कि युवा पीढ़ी सिर्फ टी-20 क्रिकेट में रुचि ले रही है। मिडिल ईस्ट और नॉर्थ अफ्रीका में वर्ल्ड कप मैचों के प्रसारण का जिम्मा ओएसएन के पास, कैरेबियन आईलैंड में ईएसपीएन और पाकिस्तान में टेन स्पोर्ट्स के पास है। वर्ल्ड कप 30 मई से इंग्लैंड में खेला जाएगा। इसमें दस टीमें हिस्सा लेंगी।

क्रिकेट के बाद सबसे ज्यादा देखा जाने वाला इवेंट विम्बलडन
भारत के खेलप्रेमी क्रिकेट के बाद टेनिस को सबसे ज्यादा पसंद और फॉलो कर रहे हैं। 53% दर्शक टेनिस के बड़े इवेंट या बड़े मैचों को देखने में दिलचस्पी रखते हैं। हालांकि, क्रिकेट 90% दर्शकों के साथ टॉप पर है। तीसरे नंबर पर बैडमिंटन (49%) है। ये नतीजे रिसर्च कंपनी एम्पेर एनालिसिस के सर्वे से निकले हैं। इस सर्वे में अलग-अलग खेलों और उनके बिग इवेंट्स के हिसाब से दर्शक संख्या निकाली गई। क्रिकेट इवेंट्स के बाद भारतीय दर्शक विम्बलडन देखने में सबसे ज्यादा दिलचस्पी रखते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *